अक्टूबर महीने में द्वितीया तिथि कब है 2023 Dwitiya Tithi Kab Hai

Dwitiya Kab Hai:- भारतीय हिन्दू कैलेंडर में द्वितीया तिथि एक विशेष महत्वपूर्ण स्थान है। द्वितीय तिथि हिन्दू पंचांग के अनुसार तारीखों का एक हिस्सा है और इसे हर माह/महीने मनाया जाता है। द्वितीया तिथि को “द्वितीय तिथि” के नाम से भी भारत में जाना जाता है। द्वितीया तिथि को लोगो का व्रत भी होता हैं और इस तिथि को देवी देवताओ की पूजा भी की जाती हैं।

अगर आप Dwitiya Tithi Kab Hai के बारे में सारी जानकारी जानना चाहते हैं, तो इस लेख को ध्यान से अंत तक जरुर पढ़े यहाँ हमने Dwitiya Tithi के बारे में सारी जानकारी बताई हैं। जैसे की Shukla Paksh Ki Dwitiya Tithi Kab Hai, कृष्ण पक्ष की द्वितीय तिथि कब हैं ?, द्वितीय तिथि के दिन व्रत कैसे करें ? आदि के बारे में बताया गया हैं।

Dwitiya Tithi Kab Hai October Me

अक्टूबर 2023 में कृष्ण पक्ष में Dwitiya Tithi 1 अक्टूबर को हैं और उस दिन रविवार का दिन हैं। शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि 16 तारीख को है उस दिन सोमवार है।

तिथि तारीख वार
कृष्ण पक्ष की दूज कब है अक्टूबर में1 अक्टूबर रविवार
शुक्ल पक्ष की दूज कब है अक्टूबर में16 अक्टूबरसोमवार

द्वितीया तिथि का समय

दोस्तों द्वितीया तिथि का समय हर महीने अलग-अलग होता है। इसे हिन्दू पंचांग के अनुसार निर्धारित किया जाता है। द्वितीया तिथि का समय सूर्योदय के बाद शुरू होता है और सूर्यास्त के पहले खत्म होता है। द्वितीया तिथि का समय दिनों, महोनो और साल के अनुसार बदलता रहता है, इसलिए हमेशा हिन्दू पंचांग के अनुसार समय देखना चाहिए।

द्वितीया तिथि का महत्व क्या हैं ?

द्वितीया तिथि का अपना महत्व है। इस दिन विभिन्न देवी-देवताओं की पूजा की जाती है। इसलिए द्वितीया तिथि को शुभ माना जाता है और कई लोग इस दिन व्रत भी रखते हैं। यह तिथि संतान प्राप्ति, धन लाभ, शांति और सुख की प्राप्ति के लिये मानी जाती है।

द्वितीया व्रत के तरीके क्या हैं ?

द्वितीया व्रत को ध्यान से करना चाहिए इसलिए हमने निचे की तरह द्वितीया व्रत करने के तरीके के बारे में बताया हैं आप उन्हें देखकर के पता लगा सकते हैं, की व्रत कैसे करें ?

कैलेंडर में द्वितीय तिथि देखे

द्वितीया तिथि का व्रत शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को किया जाता है। अगर आपको द्वितीया तिथि के बारे में पता नहीं हैं तो आप कैलेंडर में द्वितीया तिथि को देख सकते हैं।

स्नान करें

द्वितीया तिथि के व्रत के दिन स्नान जरूर करना चाहिए। जिससे देवी देवताओ को आसानी से पर्सन किया जा सके। इस दिन सभी को स्नान करके ही भवान की पूजा करनी चाहिए। और अच्छे साफ वस्त्र पहनने चाहिए।

व्रती भोजन कब करें ? और दान में क्या करें ?

द्वितीया तिथि व्रत के दिन, व्रत करने वाले व्यक्ति को एक बार खाना, खाना चाहिए। व्रत करने वाली महिलाये दूध, फल, सब्जियां चना आदि का दान कर सकती हैं।

माता गौरी की पूजा करें

द्वितीया तिथि के व्रत के दिन माता गौरी की पूजा करनी चाहिए। इस पूजा में व्रत करने वाली महिला को धूप, दीप, पुष्प, और प्रसाद से माता रानी की पूजा करनी चाहिए। यह पूजा भगवान शिव की कृपा प्राप्त करने के लिए की जाती है।

Dvitiya Tithi Kab Hai

Dwitiya Tithi Kab Hai से संबंधित पूछे जाने वाले प्रश्न और उनके उत्तर

द्वितीया तिथि कब होती है?

द्वितीया तिथि हर महीने अलग-अलग होती है। इसे हिन्दू पंचांग के अनुसार निर्धारित किया जाता है। आप पंचांग में देखकर के द्वितीया तिथि का पता लगा सकते हैं।

द्वितीया तिथि का महत्व क्या है?

द्वितीया तिथि का महत्व विभिन्न धार्मिक और सामाजिक कार्यों के लिए होता है। इस दिन विभिन्न देवी-देवताओं की पूजा की जाती है और व्रत रखा जाता है।

द्वितीया व्रत कितनी बार किया जा सकता है?

द्वितीया व्रत एक महीने में एक बार किया जा सकता है।

क्या पुरुष द्वितीया व्रत कर सकते हैं?

हां, पुरुष भी द्वितीया व्रत कर सकते हैं। यह व्रत सभी धर्मों के लोगों के लिए है।

अक्टूबर में द्वितीया कब हैं ?

सितम्बर महीने में द्वितीया रविवार और सोमवार को हैं।

अक्टूबर माह में कृष्ण पक्ष की दूज कब है ?

अक्टूबर 2023 में कृष्ण पक्ष दूज तिथि 1 अक्टूबर को हैं /

अक्टूबर माह में शुक्ल पक्ष की दूज कब है ?

अगस्त में शुक्ल पक्ष की दूज 16 अक्टूबर सोमवार 2023 को हैं।

Leave a Comment